Hindi Shayari

Best New Hindi Shayari – All Latest हिंदी शायरी 2020

Best New Hindi Shayari – All Latest हिंदी शायरी 2020

Hindi Shayari
Hindi Shayari

All new updated Hindi Shayari for Shayari lovers who love to read Hindi Shayari and share. For reading the latest हिंदी शायरी, please check our other post or site because we share and update new हिंदी शायरी every day.

अपने चेहरे पे चेहरा लगा लेते है लोग
अपना असली चेहरा छुपा लेते है लोग

 

देखते है रोज आईने में अपने दोहरे रूप को
खुद का झूठा रूप देख भी मुस्करा लेते है लोग

 

ख़ामोशी   से  जो  ……….कह  गये  वो  तुम  थे  
    हँस  के  जो  सुना………  वो  हम  थे !!!

 

मुझसे अपने दिल की गहराई से मोहब्बत करती है वो,
शिकायत सिर्फ इतनी सी है के दरवाजे दिल के नही खोलती है 

 

वो माँगकर भूल गया दुआ में मुझे ख़ुदा से ,
अब ख़ुदा मुझे किसी और का होने नहीं देता …..

 

रश्म – ए – ताजिम न रुसवा हो जाए…
इतना मत झुकिए की सजदा हो जाए…

 

इस क़दर हँसते हँसते बखुद हो जाना।
बताता है  की दुखों का ज़खीरा बहुत है ।।

 

ज़िंदा जो बच गए हैं सहें नफ़रतों के दुख 
अपना गला तो प्यार के ख़ंजर से कट गया

 

अब तो ये आरज़ू है कि वो ज़ख्म खाइए 
ता-ज़िंदगी ये दिल न कोई आरज़ू करे …

 

वक़्त पर ही छोड़ देने चाहिए कुछ उलझनों के हल…
बेशक जवाब देर से मिलेंगे, मगर लाजवाब मिलेंगे।।

 

अब तो ले दे के वही शख़्स बचा है मुझमें ..
मुझको मुझसे जो जुदा करके छुपा है मुझमें ..

 

कोई दिक्कत नहीं है ग़र तुम्हें उलझा सा लगता हूं 
मैं पहली मर्तबा मिलने में सबको ऐसा लगता हूं …

 

मोम पत्थर हुआ है मनाने पर 
तीर अब लगा है निशाने पर ..

 

हम दम से गए हमदम के लिए ..
हमदम की क़सम हमदम न मिला ..

 

हिंदी शायरी

 

हिज्र कहाँ तक सह पाओगी इश्क करो
तन्हाई मे मर जाओगी इश्क करो

 

सोने से पहले सुलाते है बाहों में तुमको।
तुम हो की नींद भी न आने देते हो हमको।।

 

उन के देखे से जो आ जाती है मुँह पर रौनक़ 
वो समझते हैं कि बीमार का हाल अच्छा है

 

तुम जो कहते तो चले जाते इस दुनिया से 
यूं मुझे छोड़ के जाने की जरूरत क्या थी

 

आज दोनों चाँद पर शबाब  होंगा,
पर मेरा चाँद ला जवाब होगा…!!!

 

चाहिए ख़ुद पे यक़ीन-ए-कामिल 
हौसला किस का बढ़ाता है कोई

 

कल रात मैं “तन्हाई” में दिल खोल के रोया ,,
फिर यूं हुआ दिवार से “बाज़ू” निकल आये ..!

 

इतने घने बादल के पीछे,
कितना तन्हा होगा चाँद।

 

नींदें गुमशुदा, और वक़्त फ़रार..!
तुम्हारा  इंतज़ार, और हसरतें बेशुमार..!!

 

कितनी दिलकश है लापरवाही उसकी…
मेरी सारी मोहब्बत फिजूल हो जैसे…!!

 

वो फैसले कर लेते है .. और हम मजबूर है 
यह जिंदगी ना सही दिल पर हुक्म तो उनका है .

 

बस  खत्म  कर  ये  बाज़ी-ए-इश्क़  सन्नी ,
मुक्कदर के हारे कभी जीता नही करते…..!!

 

अगर तुमको कभी मोहब्बत से इंकार करना हो
मुझे चुपके से कह देना मुझे नीलाम मत करना

 

हमारे पास तो सिर्फ तेरी यादे हैं..
ज़िन्दगी तो उसे मुबारक हो, जिसके पास तू है !

 

जो तड़प उठता था आँख में मेरी आँसू देख़ कर,,,,,
क्यूँ चला गया वो आँख में मेरी आँसू छोड़ कर।

 

तेरा मिलना ख़ुशी की बात सही 
तुझ से मिल कर उदास रहता हूँ

 

आज तेरा पूरा हिसाब चुकता कर ले ए ज़िन्दगी,,,,
यूँ रोज़ रोज़ नए खाते नहीं बनाए जाते मुझसे।

 

अभी तो मुलाकातें  हो जाती है….. 
हाल तो तब पूछियेगा  जब बात नहीं होगी…..

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close